Tuesday, September 27, 2022

Ola S1 Pro Move OS 2 Review : हाईटेक हुआ ओला का इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानिए नए 2.0 सॉफ्टवेयर में क्या मिले फीचर

Ola S1 pro के साथ अब एक मोबाइल एप्लिकेशन है। इसे “Ola Electric” कहा जाता है। इस App के माध्यम से आप स्कूटर को लॉक/अनलॉक कर सकते हैं, और ट्रंक भी खोल सकते हैं। यह एप्लिकेशन हर राइडिंग मोड में राइडिंग रेंज भी दिखाती है। इस पर आप स्कूटर का चार्ज स्टेटस, ओडोमीटर रीडिंग और सॉफ्टवेयर वर्जन भी देख सकते हैं। यानी एप्लिकेशन काफी सरल है, लेकिन इसमें जियो-फेंसिंग और वाहन ट्रैकिंग फीचर्स अभी भी शामिल नहीं है।

Ola S1 Pro Electric Scooter Move Os2 Review : ओला इलेक्ट्रिक ने अपने एस1 प्रो इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए मूव ओएस 2.0 सॉफ्टवेयर अपडेट को रोल आउट करना शुरू कर दिया है। इस स्कूटर को कंपनी ने बीते साल लॉन्च किया था, और लॉन्च होने के बाद से ओला के फ्लैगशिप इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए यह पहला बड़ा ओटीए (ओवर द एयर) अपडेट है। अब क्या है यह मूव ओएस 2.0 सॉफ्टवेयर और कैसे काम करता है, आइए विस्तार से बताते हैं पूरी डिटेल।

यह भी पढ़ें :- Ola Electric Car Teaser : ओला ने दिखाई अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार, डिजाइन देखकर कहेंगे….. वाह!

Ola Electric Scooter

नए राइडिंग मोड के साथ बढ़ी रेंज

लॉन्च के समय से ही Ola S1 Pro स्कूटर में तीन राइडिंग मोड्स, नॉर्मल, स्पोर्ट्स और हाइपर दिए गए हैं, हालाँकि, मूव OS 2.0 अपडेट के साथ इस स्कूटर को अब सिर्फ एक इको मोड भी मिलता है। यानी ई-स्कूटर की राइडिंग रेंज को बढ़ाने के लिए सिर्फ ईको मोड को शामिल किया गया है, जिसकी रेंज की तुलना अगर आप नॉर्मल मोड से करेंगे तो यह करीब 20 किमी ज्यादा होगी।

इको मोड स्कूटर की राइडिंग रेंज को लगभग 170 किमी तक बढ़ा देता है, और इसकी टॉप स्पीड केवल 40 किमी प्रति घंटे तक सीमित है। आप राइड मोड बटन को देर तक दबाकर इको मोड को एक्टिवेट कर सकते हैं, हालांकि,ईको मोड छिपा हुआ है और राइडर सीधे हाइपर मोड पर स्कूटर एक्टिव करता है।

यह भी पढ़ें :इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी में क्यों लगती है आग? ये है समाधान

Ola Electric Scooter

राइडिंग के दौरान बजेगा म्यूजिक

Ola S1 Pro इलेक्ट्रिक स्कूटर में पहले से ही ट्विन फिजिकल स्पीकर थे। लेकिन अब नए अपडेट के साथ ब्लूटूथ कनेक्टिविटी के जरिए राइडर्स चलते-फिरते संगीत भी सुन सकते हैं। बस आपको अपने फोन को स्कूटर से पेयर करना होगा और इन-बिल्ट स्पीकर्स को एक्टिवकरना होगा। जिसके बाद आप अपना पसंदीदा संगीत सुन सकते हैं। आप पिछले और अगले ट्रैक पर जा सकते हैं, वॉल्यूम बढ़ा सकते हैं, वॉल्यूम घटा सकते हैं और दायीं ओर स्थित डी-पैड बटन से पॉज़ भी कर सकते हैं। परेशान करने वाली बात यह है कि फोन कनेक्ट होने पर स्कूटर अपने आप म्यूजिक शुरू कर देता है।

इसके अलावा स्कूटर अब MapmyIndia मैप्स के जरिए ऑन-बोर्ड नेविगेशन को भी सपोर्ट करता है। आप अपने नेविगेशन में लोकेशन टाइप कर सकते हैं और नेविगेशन के दौरान मैप्स आपकी होम स्क्रीन पर दिखाई देंगे। हालांकि, कई बार यह मैप काम नहीं करता है। इसे लोकशन लोड करने में बहुत समय लगता है या कभी-कभी लोड करने से यह इंकार भी कर देता है।

यह भी पढ़ें :- इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी में क्यों लगती है आग? ये है समाधान

Ola Electric Scooter

Ola Electric Mobile App का मिला फीचर

Ola Electric के साथ अब एक मोबाइल एप्लिकेशन है। इसे “Ola Electric” कहा जाता है। एप्लिकेशन के माध्यम से आप स्कूटर को लॉक/अनलॉक कर सकते हैं, और ट्रंक भी खोल सकते हैं। यह एप्लिकेशन हर राइडिंग मोड में राइडिंग रेंज भी दिखाती है। इस पर आप स्कूटर का चार्ज स्टेटस, ओडोमीटर रीडिंग और सॉफ्टवेयर वर्जन भी देख सकते हैं। यानी एप्लिकेशन काफी सरल है, लेकिन इसमें जियो-फेंसिंग और वाहन ट्रैकिंग फीचर्स अभी भी शामिल नहीं है।

स्कूटर की डिस्प्ले स्क्रीन पर एक इंडिकेटर है। यदि आइकन हरा है तो इसका मतलब है कि क्रूज कंट्रोल एक्टिव है। यदि यह आइकन नारंगी है तो इसका मतलब है कि किसी कारण से क्रूज कंट्रोल एक्टिव नहीं है। जिन कारणों से क्रूज़ कंट्रोल उपलब्ध नहीं है, वह यह है कि स्कूटर अपनी आदर्श गति पर नहीं है या आप ईको मोड में हैं। ध्यान दें, कि ईको मोड में क्रूज कंट्रोल फंक्शन किसी कारण से काम नहीं करता है। हालांकि, क्रूज कंट्रोल अच्छी तरह 20 किमी प्रति घंटे और 80 किमी प्रति घंटे की गति के बीच काम करता है, और जैसे ही आप स्कूटर को कोई इनपुट देते हैं, य​​ह डिएक्टिवे​ट हो जाता है। यानी जब भी आप क्रूज़ कंट्रोल का उपयोग करते हैं, तो स्पीकर में एक आवाज होती है।

यह भी पढ़ें :- PMV EaS-E : महज 4 लाख रुपये में लॉन्च होगी ये इलेक्ट्रिक कार, 200किमी की रेंज के साथ शुरू हुई बुकिंग

Ola Electric Scooter

इन फीचर्स का अभी भी अभाव

अन्य चीजें जो ध्यान दने योग्य हैं, वह हैं, कि इसमें अभी भी वॉयस कमांड और यूजर प्रोफाइल नहीं हैं। जब आप मोबाइल फोन से कनेक्ट होते हैं, तो स्क्रीन आपको आपकी सूचनाएं नहीं दिखाएगी और कोई कॉल अलर्ट नहीं होगा। इसके अलावा हैजर्ड लाइट भी नहीं हैं। कुल मिलाकर, मूव ओएस 2 मूव ओएस 1 पर एक अपग्रेड है क्योंकि यह काफी कुछ ऐसे फीचर्स को लेकर आया है, जिनका वादा पहले किया गया था। इसके अलावा, यह कुछ प्रमुख मुद्दों को भी ठीक करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + seven =

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments