Friday, April 19, 2024

Toyota Fortuner, Innova और Thar को गोवा पुलिस ने किया जब्त, जानिए पूरा मामला

हिरासत में लिए गए वाहनों के मालिकों को मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कोर्ट में आना होगा और 10 हजार रुपए जुर्माना देना होगा। गोवा में यह सीजन का समय है, और दुनिया भर से पर्यटकों का आना शुरू हो गया है, और इसी तरह की घटनाओं की सूचना लगातार मिल रही है।

Goa Police Seizes Rented Vehicles : गोवा भारत और विदेशों में पर्यटकों के बीच पसंदीदा जगहों में से एक है। भारत का यह सबसे छोटा राज्य समुद्र तटों और किलों के लिए काफी लोकप्रिय है। हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक यहां आते हैं, और किराए की कारों और दोपहिया वाहनों को लेना पसंद करते हैं। जिन्हें वे इधर-उधर चला सके। किराए की इन कारों और बाइकों में से अधिकांश कमर्शियल परमिट के साथ आती हैं, हालांकि गोवा में अब ऐसे मामले सामने आए हैं जहां पर्यटकों को प्राइवेट रजिस्ट्रेशन (Private Registration) वाले वाहन चलाने को दिए गए।

Goa Police Siezed Rented Vehicles
Goa Police Siezed Rented Vehicles
Second Hand Car Under 6 Lakh

कुल मिलाकर यह अवैध है। गोवा के कैलंगुट में, पुलिस ने छह कारों और 18 दोपहिया वाहनों को हिरासत में लिया है, जिनका प्राइवेट रजिस्ट्रेशन के साथ पर्यटकों द्वारा उपयोग किया जा रहा था। गोवा राज्य के कई हिस्सों में यह आम बात हो गई है। पिछले सप्ताह पुलिस मुख्यालय में बैठक बुलाई गई थी। बैठक के बाद, निजी वाहनों के अवैध उपयोग की जांच के लिए एक जांच अभियान शुरू करने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें :Tata लेकर आ रही है एक नई इलेक्ट्रिक कार, 300km की रेंज के साथ नए प्लेटफॉर्म पर होगी तैयार!

जिसके चलते कैलंगुट पुलिस ने कलंगुट-कैंडोलिम बीच बेल्ट में मोटर वाहन अधिनियम प्रवर्तन अभियान (Motor Vehicle Act enforcement drive)  शुरू किया। लीगल रूप से देखें तो केवल रेंट-ए-बाइक या रेंट-ए-कैब (rent-a-bike or rent-a-cab ) परमिट वाले वाहनों को किराए पर देने की अनुमति है। इन बाइक्स या कारों में भी पीले रंग की नंबर प्लेट होनी चाहिए। लेकिन, राज्य में आने वाले अधिकांश पर्यटक इस नियम से अनजान होते हैं और उन्हें नियमित रूप से काले और सफेद नंबर प्लेट वाले निजी वाहनों को सौंप दिया जाता है।

Tata Altroz

पुलिस ने अपनी जांच के दौरान Maruti Baleno, Toyota Fortuner, Toyota Innova और Hyundai Creta जैसी कारों और एसयूवी को हिरासत में लिया है। यहां तक ​​कि नई पीढ़ी की Mahindra Thar भी प्राइवेट रजिस्ट्रेशन पर पर्यटकों को किराए पर दी जाती है। इन कारों के अलावा ऑटोमेटिक स्कूटर और बाइक भी इसी तरह से पर्यटकों को ऑफर किए गए हैं। कलंगुट के पुलिस निरीक्षक दत्तगुरु सावंत ने कहा, “आगे की कार्रवाई के लिए इस मामले की अदालत प्राधिकरण और क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय को भी एक रिपोर्ट सौंपी जाएगी।”

हिरासत में लिए गए वाहनों के मालिकों को Motor Vehicle Act के तहत कोर्ट में आना होगा और 10 हजार रुपए जुर्माना देना होगा। गोवा में यह सीजन का समय है, और दुनिया भर से पर्यटकों का आना शुरू हो गया है, और इसी तरह की घटनाओं की सूचना लगातार मिल रही है।

यह भी पढ़ें :- Used Car : मिनटों में बेचें अपनी कार, सही लगेगा दाम, बस करें ये काम!

फिलहाल, राज्य पुलिस तटीय क्षेत्र के विभिन्न कस्बों और गांवों में इसी तरह के निरीक्षण अभियान चला रही है। जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, यह एक ऐसा समय है जब पर्यटक गोवा में आते हैं और वर्ष के इस समय के दौरान किराए की कार और बाइक की उपलब्धता मुश्किल हो जाती है। ज्यादातर मामलों में, पर्यटकों को कार या बाइक को किराए पर लेने के लिए ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है। वहीं पुलिस द्वारा रोके गए कई पर्यटकों ने उन्हें बताया कि उन्हें नियमों की जानकारी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + twenty =

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments