Thursday, October 6, 2022

खत्म हुआ भारत में Datsun का सफर, 9 साल बाद कह गई ‘अलविदा’

निसान का देश भर में एक मजबूत नेटवर्क है, और ग्राहकों को सर्विस टचप्वाइंट तक पहुंचने में आसानी होगी। निसान ने अपने बयान में कहा, “हम सभी मौजूदा और भविष्य के डैटसन मालिकों को आश्वस्त करते हैं कि ग्राहकों की संतुष्टि हमारी प्राथमिकता बनी हुई है, और हम अपने राष्ट्रीय डीलरशिप नेटवर्क से बिक्री के बाद सर्विस, पार्ट की उपलब्धता और वारंटी प्रदान करना जारी रखेंगी।”

जापानी कार निर्माता कंपनी Nissan ने आखिरकार भारत में Datsun ब्रांड को बंद कर दिया है। रूस और इंडोनेशिया जैसे देशों में ब्रांड द्वारा अपने संचालन को बंद करने के बाद डैटसन का भारत में प्रोडक्शन अब बंद हो गया है, यानी डैटसन ने भारत में अपना कुल नौ साल का सफर तय किया और अब यह ब्रांड हमें अलविदा कह गई है। भारत में डैटसन के तीन मॉडल Go, Go Plus और Redi-Go ब्रिकी पर ​थे, और निसान ने दक्षिण अफ्रीका को भारत में बने डैटसन मॉडल का निर्यात भी किया। जानकारी के लिए बता दें, रूस और इंडोनेशिया में इस ब्रांड (Datsun) को 2020 में ही बंद कर दिया गया था।

कम सेल के चलते प्रोडक्शन पर लगी रोक

दिलचस्प बात यह है, कि कंपनी ने Go और Go Plus मॉडल का उत्पादन कुछ समय पहले ही बंद कर दिया। वहीं अब ऑटोकार ने पुष्टि की है कि Redi-GO का प्रोडक्शन भी बंद कर दिया गया है। आधिकारिक बयान के अनुसार “निसान की वैश्विक परिवर्तन रणनीति के हिस्से के रूप में, कंपनी मुख्य मॉडल और सेगमेंट पर ध्यान केंद्रित कर रही है जो ग्राहकों की पसंद के साथ डीलर भागीदारों को लाभ प्रदान करती हैं। फिलहाल, डैटसन रेडिगो का उत्पादन चेन्नई संयंत्र में बंद हो गया है। ब्रिकी की बात करें तो जनवरी से दिसंबर 2021 के बीच 12 महीने की अवधि में डैटसन ने भारतीय बाजार में केवल 4,296 इकाइयां बेचीं हैं।

मौजूदा ग्राहकों पर अपडेट

निसान ने अपने मौजूदा डैटसन ग्राहकों को Service आफ्टरमार्केट पार्ट्स और वारंटी सर्विस के साथ समर्थन का आश्वासन दिया है। निसान का देश भर में एक मजबूत नेटवर्क है, और ग्राहकों को सर्विस टचप्वाइंट तक पहुंचने में आसानी होगी। निसान ने अपने बयान में कहा, “हम सभी मौजूदा और भविष्य के डैटसन मालिकों को आश्वस्त करते हैं कि ग्राहकों की संतुष्टि हमारी प्राथमिकता बनी हुई है, और हम अपने राष्ट्रीय डीलरशिप नेटवर्क से बिक्री के बाद सर्विस, पार्ट की उपलब्धता और वारंटी प्रदान करना जारी रखेंगी।”

2013 में शुरू हुआ था सफर

निसान ने 2013 में 32 साल बाद डैटसन ब्रांड को पुनर्जीवित किया। क्योंकि यह भारत, इंडोनेशिया और रूस जैसे उभरते बाजारों में छोटी, सस्ती कारों की ब्रिकी की उम्मीद कर रहा था। हालाँकि, कंपनी की यह योजना काम नहीं आई। इसी बीच भारत निश्चित रूप से पहला बाजार था जहां जुलाई 2013 में दिल्ली में Datsun ने पहले मॉडल गो हैचबैक के विश्व प्रीमियर के साथ डैटसन को फिर से लॉन्च किया गया। वहीं गो की ब्रिकी 2014 की शुरुआत में स्टार्ट हुई। कीमत में कम होने के बावजूद इस कार को भारतीयों का प्यार नहीं मिला और आज इसने देश को अलविदा कह दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − nine =

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments