Thursday, October 6, 2022

Maruti Alto और WagonR की भारत में बंद हो सकती है ब्रिकी, कंपनी ले सकती है बड़ा फैसला!

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार 8 यात्रियों के बैठने की क्षमता वाले सभी मोटर वाहनों के लिए 6 एयरबैग अनिवार्य करेगी। ऐसा करने से वाहनों की सुरक्षा में सुधार होगा और सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी।

भारत सरकार इन दिनों सुरक्षा को लेकर काफी सर्तक है, इस दिशा में बीते कुछ समय में कई प्रयास किए गए हैं, जिनमें से एक Bharat NCAP को अगले साल से लागू किया जाना है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार 8 यात्रियों के बैठने की क्षमता वाले सभी मोटर वाहनों के लिए 6 एयरबैग अनिवार्य करेगी। ऐसा करने से वाहनों की सुरक्षा में सुधार होगा और सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी। अब इस विषय पर सबसे बडा सवाल उठता है, कि एयरबैग से सुरक्षा तो होगी लेकिन वाहनों की कीमत में भी भारी इजाफा होगा। तो यह निर्णय वाहन निर्माताओं के लिए कितना कारगर है।

यह भी पढ़ें :- Bharat NCAP के पास होने से घबराई Maruti, आखिर क्यों कर रही लोगों की सुरक्षा का विरोध? विस्तार से जानिए डिटेल

Maruti Suzuki Cars

6 एयरबैग से महंगी हो जाएंगी सभी एंट्री लेवल गाड़ियां

Maruti Suzuki की कारों को लोग आंख बंद करके खरीदते हैं, कई सालों से मारुति देश की सबसे ज्यादा कार सेल करने वाली कंपनी है। एक मीडिया प्रकाशन से बात करते हुए, मारुति सुजुकी के अध्यक्ष आर सी भार्गव ने कहा कि, “अगर सरकारी नीतिगत हस्तक्षेपों एयरबैग अनिवार्य करने के कारण वाहनों की लागत बढ़ती रहती है, तो “कंपनी छोटी कारों को बंद करने में संकोच नहीं करेगी”। उन्होंने कहा कि इससे छोटी कारें महंगी होंगी और वाहनों का उत्पादन और बिक्री घटेगी। जिसके बाद हमें छोटी कारों को बंद करने का निर्णय लेना पढ़ेगा।”

“इस फैसले से बाजार में एंट्री लेवल कारों को खरीदने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि लागत बढ़ेगी तो कीमत में भी इजाफा होगा। भार्गव ने कहा कि छोटी, कम लागत वाली कारों का निर्माण कई लोगों के लिए वहन योग्य नहीं है। इसका अर्थव्यवस्था और कार बाजार के विकास पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। आपको याद होगा कि हाल ही में मारुति ने भारत एनकैप पर भी बयान दिया था, कि भारत एनकैप द्वारा देश में बेची वाली सभी कारों का क्रैश टेस्ट करने संभव नहीं है, मारुति ने इस बात पर संकोच करते हुए कहा कि भारत जैसे देश में सुरक्षा कार खरीदने का बेंचमार्क नहीं है।

यह भी पढ़ें :- ये हैं देश की 5 कारें जिन्हें Global NCAP ने दिया सुरक्षा में 5-स्टार, शुरुआती कीमत सिर्फ 5.83 लाख रुपये

Maruti Suzuki Cars
Maruti Suzuki Cars

Bharat NCAP पर भड़की मारुति

इतना ही नहीं मारुति ने यहां तक कह दिया है, कि कंपनी की कारें भारत एनसीएपी ‘स्टार रेटिंग’ के लिए तभी जाएगी जब भारतीय कार खरीदार कंपनी की कारों को खरीदने से पहले न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम के तहत स्टार रेटिंग मांगता है। मारुति सुजुकी के अध्यक्ष, आरसी भार्गव ने सुझाव दिया कि “भारत यूरोपीय बाजार से अलग है और हम यूरोप के सड़क सुरक्षा उपायों का पालन नहीं कर सकते हैं।” अधिकारी ने आगे कहा कि एनसीएपी रेटिंग से केवल अमीर कार खरीदारों को फायदा होगा।”

देखना होगा कि मारुति और सरकार की यह बहस कहां तक जाती है, और इसका वाहन बाजार पर क्या असर पड़ता है। ध्यान दें, कि इंडो-जापानी ऑटोमेकर Maruti Suzuki ने दूसरी पीढ़ी की ब्रेज्जा को लॉन्च कर दिया है। इस नए अपडेट मॉडल में इंजन सेटअप के साथ अंदर और बाहर महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं। New Maruti Brezza नए इंजन के साथ पहले से ज्यादा माइलेज देने में सक्षम होगी और इस मोटर के साथ ट्रांसमिशन विकल्पों में 5-स्पीड मैनुअल और 6-स्पीड ऑटोमैटिक शामिल होंगे।

यह भी पढ़ें :- अब AC की नहीं पड़ेगी जरूरत, गर्मी को मात देने के लिए Maruti Omni पर चढ़ाया गाय के गोबर का लेप!

Maruti Celerio CNG

नोट : भारत एनसीएपी क्रैश टेस्ट में अच्छी रेटिंग प्राप्त करने के लिए एक कार में छह एयरबैग, ईएससी, सभी यात्रियों के लिए तीन-बिंदु सीट बेल्ट और पैदल यात्री सुरक्षा की आवश्यकता होगी। वहीं कार की टेस्टिंग भारत एनकैप में वयस्कों और बच्चों की सुरक्षा और ADAS जैसी तकनीक का भी जिक्र करेंगी।

यह भी पढ़ें :- Top 5 Adventure Motorcycle : कच्चे पक्के रास्तों पर जमकर दौड़ती हैं ये ADV मोटरसाइकिल, कीमत भी है बेहद कम

Maruti Suzuki Car
Hyundai Santro CNG

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + one =

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments